कामवासना डॉट नेट

-Advertisement-

मॉडर्न भाई बहन की चुदाई 
@Kamvasna 05 मई, 2023 47700

लंबी कहानी को बिना स्क्रॉल किए पढ़ने के लिए प्ले स्टोर से Easy Scroll एप डाउनलोड करें।

 

हमारे घर में शुरू से ही कुछ ऐसा माहौल था के मेरे मम्मी पापा हम दोनों भाई बहन के सामने ही रोमांटिक हो जाते थे। हम बड़े हो गए तब भी मम्मी और पापा एक दूसरे की बाहों मे बाहें डालकर रखते और एक दूसरे को किस भी कर लेते। जिस कारण मैं और बहन भी उनकी तरह ही एक दूसरे की कमर में हाथ डाल लेते घूमते रहते।
 
फिर हम थोड़े और बड़े हुए और कॉलेज में जाने लगे तो तब भी ऐसे ही चलता रहा। मेरी बहन मुझसे बस डेढ़ दो साल ही छोटी थी। अब हम दोनों जवान हो चुके थे। मेरी बहन को जब मुझसे कोई काम करवाना होता तो वो मुझे अपनी बाहों मे लेकर मुझे काम के लिए मना लेती। मैं भी बहन की कमर में हाथ डालकर उससे अपने से चिपका लेता। हमारे बीच मस्ती मजाक चलता रहता था।
 
जो की धीरे धीरे प्यार में बदल गया। फिर हमारा एक दूसरे के बिना मन ही नहीं लगता था। हम एक दूसरे से दूर बिल्कुल भी नहीं रह सकते थे। ये बात हमारे मम्मी पापा को भी पता थी। हम दोनों भाई बहन एक दूसरे की गलतियों को भी छुपाने लगे थे। जिस कारण हम एक दूसरे के और ज्यादा करीब आ गए।
 
जब हम दोनों कोई मूवी देखते तो उसमें कोई किसिंग सीन होता तो वो भी हम साथ मे देख लेते और तो और मैं और बहन मिलकर साथ में डांस करते। फिर तो हमारे बीच वो सब कुछ होने लगा था जो की एक बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड के बीच होता है बस सेक्स को छोड़कर।
 
एक बार रात को मैं और बहन पानी पीने के लिए उठे तो फिर जब हम पानी पीने गए तो तब मम्मी पापा चुदाई कर रहे थे और उनके कमरे का गेट थोड़ा खुला हुआ था तो फिर जब हमने अंदर झांक कर देखा तो पापा मम्मी दोनों बिल्कुल नंगे होकर चुदाई कर रहे थे। हालांकि मैं और बहन उनकी चुदाई पहले कई बार देख चुके थे पर आज हम दोनों साथ में देख रहे थे।
 
फिर बहन बोली के इनका तो रोज का है चलो। फिर हम पानी पीकर वापिस आकर लेट गए। लेकिन हम दोनों को बिल्कुल भी नींद नहीं आ रही थी। फिर हम दोनों बातें करने लगे। फिर बातें करते करते हम दोनों ने तय किया की अब से हम भाई बहन कम और दोस्त ज्यादा होंगे। हम एक साथ ही सोते थे तो मैं बहन से चिपक कर सो जाया करता था। मैं कई बार बहन के सामने अन्डरवियर में भी रह चुका था।
 
फिर रक्षाबंधन आने वाला था तो बहन ने मुझसे पूछा के इस बार मुझे क्या गिफ्ट दोगे। फिर मैं बोला के तुम बताओ तुम्हें क्या चाहिए। फिर बहन ने कहा इस बार हम रक्षाबंधन कुछ अलग ढंग से मनाएंगे। फिर मैंने पूछा के क्या मतलब। फिर बहन बोली के सारी दुनिया भाई बहन के रिश्ते को पवित्र मानती है जिससे की उनके बीच काफी लिमिटैशन लग जाती है। पर हमारे बीच ऐसा कुछ भी नहीं होना चाहिए। इस बार हम रक्षाबंधन पर एक दूसरे को ऐसे गिफ्ट देंगे जो के कम से कम एक भाई बहन एक दूसरे को नहीं देते है। फिर मैं बोला के ऐसे क्या गिफ्ट हो सकते है। फिर बहन मुस्कुराकर बोली के कुछ भी हो सकते है। तुम मेरे लिए कोई शार्ट ड्रेस, बिकिनी वगैरह कुछ भी ला सकते हो और मैं तुम्हारे लिए भी ऐसा ही कुछ गिफ्ट लाऊंगी।
 
 
बहन की बात सुनकर मुझे आईडिया हो गया था के वो असल मे क्या चाहती है। मेरी बहन अब मेरे साथ ऐसे व्यवहार करती जैसे कि वो मेरी गर्लफ्रैंड या बीवी हो। रात को जब हम साथ ही सोते तो मैं सिर्फ अंडरवियर पहनकर सोता और बहन शॉर्ट्स पहनती। फिर रात को मेरा मन करता वैसे मैं सोता। कभी बहन के ऊपर तो कभी उससे चिपक कर तो कभी वो मेरे ऊपर। मेरा लंड खड़ा होता तो अंडरवियर में तंबू बन जाता तो मैं बहन के सामने ऐसे ही रहता। जब मैं बहन के साथ चिपक कर सोता तो मेरा लंड बहन के बदन पर लगता तो भी वो कुछ नहीं कहती।
 
 
वैसे तो हम नॉर्मल ही रहते लेकिन जब हम अकेले होते तो बहन खुद मेरी बाहों में आ जाती और फिर मैं भी बहन को अपनी बाहों में भरकर खूब प्यार करता। एक दिन हम कॉलेज जा रहे थे बाइक पर। हम दोनों एक साथ बाइक पर ही कॉलेज जाते हैं। उस दिन मौसम काफी अच्छा था और बारिश आने वाली थी। उस दिन हम दोनो का कॉलेज जाने का बिल्कुल भी मन नहीं था तो फिर हम दोनों ने कॉलेज नहीं जाने का फैसला किया। फिर हम दोनों हमारे शहर से बाहर एक सुनसान सी जगह पर चले गए और फिर बाइक को सड़क किनारे छुपाकर हम दोनों सड़क के किनारे काफी पेड़ पौधे उगे हुए थे और फिर उनके बीच चले गए।
 
 
वहां जाते ही बहन जैसे आजाद हो गई हो। उसने अपने दोनो हाथ फैलाये और फिर खुशी से झूमने लगी। उसे ऐसा करते देख मैं भी खुश हो गया और फिर पीछे से जाकर उसे पकड़ लिया। इस तरह हम दोनों भाई बहन काफी देर तक घूमते रहे और फिर एक जगह जाकर बैठ गए। फिर हम दोनों बातें करने लगे। हम बातें कर ही रहे थे के तभी एक गाड़ी आकर रुकी और फिर उसमें से एक औरत और आदमी निकला और फिर वो दोनो झाड़ियों के पीछे जाकर सेक्स करने लगे। हम दोनों उन्हें आराम से देख सकते थे। लेकिन वो हमें नहीं देख सकते थे। उन्हें देखकर मैं और बहन एक दूसरे की तरफ देखकर हँसने लगे। फिर सेक्स करने के बाद वो दोनो चले गए।
 
 
फिर बहन मुझसे मेरी गर्लफ्रैंड के बारे में पूछने लगी तो मैंने उससे कहा के बस तुम ही हो मेरी गर्लफ्रैंड। फिर मैंने बहन से उसके बॉयफ्रेंड के बारे में पूछा तो बहन बोली के तुम मुझे और किसी लड़के के साथ देख सकते हो क्या। जब वो मेरी कमर में हाथ डालकर मेरे साथ चले और फिर वो मुझे अपने सीने से लगाकर प्यार करें। फिर मैंने बहन की कमर में हाथ डालकर उसे अपने से चिपकाते हुए बोला के बिल्कुल नहीं देख सकता। तब बहन मुस्कुराकर बोली के तभी मैंने कोई बॉयफ्रेंड नहीं बनाया।
 
 
फिर हम दोनों एक दूसरे की आंखों में देखने लगे और फिर मैंने अपने होंठ बहन के होंठो पर रख दिये और किस करने लगे। वो भी मेरा साथ देने लगी। हम दोनों काफी देर तक एक दूसरे से किस करते रहे। तभी बादल गरजने की आवाज आई तो हमारा ध्यान आसमान की तरफ गया। फिर बहन खुश होकर बोली के काश बारिश आ जाये तो हम बारिश में जमकर नहाएंगे। फिर मैं बोला के हमारे कपड़े भीग जाएंगे। फिर बहन ने कहा के हम अपने ऊपर के कपड़े खोल देंगे और सिर्फ नीचे के कपड़ो में ही नहाएंगे।
 
 
फिर मैं बोला के तो ठीक है। बारिश आने से पहले कपड़े खोल देते है। फिर मैं तो अपने सब कपड़े खोलकर सिर्फ अंडरवियर में रह गया और बहन ने भी अपने ऊपर के कपड़े खोल दिये और फिर वो सिर्फ नीचे पैंटी और ऊपर टीशर्ट जैसा कुछ पहन रखा था। फिर मैं हम दोनों के कपड़े जाकर बाइक में रख आया ताकि वो बारिश में न भीग जाएं। फिर हम दोनों बारिश आने का इंतजार करने लगे। फिर थोड़ी देर बाद ही बारिश आनी शुरू हो गई तो फिर हम दोनों बारिश में नहाने लगे। भीगने के कारण बहन के ऊपर का हिस्सा साफ दिखने लगा था। लेकिन इसकी किसे परवाह थी। हम तो जमकर मस्ती कर रहे थे।
 
फिर मैं बहन को बाहों में लेकर लिप किस करने लगा। अब हम दोनों खुलकर लिप किस कर रहे थे। तब हम दोनों गर्म हो चुके थे और पूरे भीग चुके थे। जिस कारण बहन के बूब्स साफ दिखाई दे रहे थे। फिर जब बादल जोर से गरजे तो बहन डर गई और वो डरकर मेरी बाहों में आ गई। बारिश तब बहुत तेज आने लगी थी। फिर मैं बहन को लेकर झाड़ियों के नीचे ले गया जहां बारिश कम लग रही थी।
 
फिर जब भी बदल जोर से गरजते तो बहन मुझसे चिपक जाती। फिर हम दोनों फिर से लिप किस करने लगे। पहले तो हमे लग रहा था जैसे कि बारिश रुकेगी ही नहीं। लेकिन थोड़ी देर बाद बारिश कम हो गई और फिर रुक भी गई। फिर मैंने बहन से कहा के अब चलते है यहां से। अगर फिर से बारिश आनी शुरू हो गई तो नहीं जा पाएंगे। फिर मैं कपड़े लेने चला गया और फिर कपड़े लेकर आया तो देखा के बहन अपने कपड़े खोलकर निचोड़ रही थी। तब वो बिल्कुल नंगी थी। फिर बहन ने मेरे सामने ही अपने नीचे के कपड़े पहने और फिर मुझे भी अंडरवियर निचोड़कर पहनने के लिए कहा तो फिर मैंने बहन की तरफ पीठ करके अपना अंडरवियर खोला और फिर निचोड़ कर फिर से पहन लिया। फिर हम दोनों ने हमारे ऊपर के कपड़े पहने और वहां से जाने लगे तो बहन बोली के यहाँ मुझे आज काफी मजा आया।
 
 
फिर मैं बोला के मुझे भी। फिर हम दोनों बाइक पर बैठकर घर आने लगे। अभी कुछ टाइम पड़ा था तो फिर मैं बहन को लेकर एक रेटोरेंट मे गया और वहां हमने नाश्ता किया और फिर घर आ गए। उस दिन के बाद से तो मैं और बहन अक्सर ऐसी जगह पर जाने लगे। अब कॉलेज जाने से पहले और जब भी हमारा मन करता तो हम लिप किस कर लेते। रात को मैं बहन के ऊपर आकर घण्टो तक उसके होंठों को चूसता। फिर एक बार जब मैं बहन के ऊपर घुटनो के बल खड़ा था तो अंडरवियर में मेरे खड़े लंड को देखकर बोली के अगर तुम्हें तकलीफ हो रही है तो अंडरवियर खोल दो। अब मुझसे शर्म कैसी। फिर मैं बोला के नहीं ठीक है। फिर मैंने बहन की बात नहीं मानी तो उसने अपना मुंह बना लिया।
 
फिर उसे देखकर मैं उसके साइड में लेटा और फिर अपना अंडरवियर खोलकर साइड में रख दिया। ये देखकर बहन मुस्कुराने लगी। फिर जब उसने मेरे लंड को देखा तो देखती ही रह गई। फिर मैंने उससे कहा के किसी का देखा नहीं क्या पहले। फिर वो बोली के देखा तो है पर मुझे आपका काफी बड़ा लग रहा है। फिर मैं बोला के नहीं ज्यादा भी बड़ा नहीं है। फिर उस दिन के बाद से मैं बहन के सामने नंगा ही रहने लगा। रात को जब मैं बिना अंडरवियर के सोता तो जब मेरा नाइटफॉल होता तो लंड का पानी बिस्तर पर लग जाता। ये देखकर बहन बोलती के कोई बात नहीं मैं धो लुंगी। कई बार मेरा पानी उसके कपड़ो पर भी लग जाता था। लेकिन वो कुछ नहीं कहती।
 
 
फिर जब रात को मैं बहन के ऊपर आकर लिप किस करता तो मैं लंड उसकी दोनो टांगो के बीच डालकर रगड़ने लग जाता और फिर झड़ जाता। यही हमारा सेक्स था। मैं और बहन अब बड़े हो चुके थे तो हमे सेक्स के बारे में सब पता था। लेकिन हम ऐसे करके ही खुश थे। बहन भी जब मेरे ऊपर आती तो फिर वो भी मेरे लंड को अपनी गाँड से सहलाकर पानी निकाल देती। तब बहन का भी पानी निकल जाता था।
 
 
फिर मैं बहन के बोबो को भी सहलाने लगा था जिस कारण बहन को काफी मजा आता और उसके बोबो का साइज भी थोड़ा बढ़ गया था। फिर रक्षाबंधन आने वाला था तो हम दोनों भाई बहनों ने एक दूसरे को बिना बताए एक दूसरे के लिए गिफ्ट खरीदे। फिर रक्षाबंधन वाले दिन बहन ने पापा मम्मी के सामने मेरे हाथ पर राखी बांधी। लेकिन मेरी और बहन की असली रक्षाबंधन तो रात को शुरू होने वाली थी। जिसका हम दोनों को ही रात का इंतजार था।
 
हम हमारे कमरे में ही रक्षाबंधन मनाने वाले थे तो मैंने और बहन ने हमारे कमरे को थोड़ा बहुत सजाया और फिर बहन ने भी अपनी तरफ से कुछ स्पेशल तैयारी की थी। फिर रात को खाना वगैरह खाने के बाद हम सब अपने अपने कमरों मे चले गए। मैं और बहन भी अपने कमरे मे चले गए। फिर हमने कमरा अंदर से बंद कर लिया। फिर हम दोनों एक दूसरे के लिए पहनने के लिए जो भी लाए थे वो एक दूसरे को गिफ्ट दिए ताकि हम वो पहनकर रक्षाबंधन मना सके। फिर बहन ने मुझसे पूछा के तुम मेरे लिए क्या लिया तो मैं जो बहन के लिए पहनने के लिए जो ड्रेस लाया था उसे अपनी मुट्ठी मे लेकर बहन के आगे कर दी। फिर बहन भी सोचने लगी के ऐसी क्या ड्रेस हो सकती है जो की एक बंद मुट्ठी मे आ जाए। फिर बहन ने जब मेरी मुट्ठी खोली तो उसमें एक रेड कलर की शॉर्ट ड्रेस थी। वो ड्रेस काफी सिल्की थी जिस कारण वो मेरी एक मुट्ठी मे ही आ गई थी। वो ड्रेस थी भी काफी शॉर्ट।
 
वो ड्रेस देखकर बहन काफी खुश हुई। उसे वो काफी पसंद आई थी। उस ड्रेस के साथ एक छोटी सी पैंटी थी जिससे की सिर्फ चुत ही कवर हो सकती थी। फिर बहन से मैंने मेरा गिफ्ट मांगा तो फिर उसने जब मुझे मेरा गिफ्ट दिया तो मैं देखता ही रह गया। वो गिफ्ट एक छोटा सा अंडरवियर था जो की सिर्फ मेरे लंड के लिए ही था। हाँ सही सुना आपने। वो अन्डरवियर कान्डम की तरह पहन जाता था। ऐसा गिफ्ट देखकर मैं भी काफी खुश हुआ। फिर मैं तो वहीं कपड़े खोलकर वो अन्डरवियर पहनकर तैयार हो गया और बहन बाथरूम मे जाकर मेरी दी हुई ड्रेस पहनने लगी। फिर वो जब ड्रेस पहनकर बाहर निकली तो मैं तो उसे देखता ही रहा गया। तब वो काफी सेक्सी लग रही थी।
 
वो भी मुझे उस अन्डरवियर मे देखकर काफी खुश हुई। फिर वो राखी बांधने के लिए थाली लेकर आई और फिर मेरी आरती उतारी और फिर मेरे हाथ पर राखी बांधी। फिर राखी बांधने के बाद हम दोनों लिप किस करने लगे। थोड़ी देर लिप किस करने के बाद बहन बोली के सब भाई बहन को ऐसे ही रक्षाबंधन का त्योहार मनाना चाहिए। उसकी बात सुनकर मैं हंसने लगा। फिर बहन बोली के मेरा गिफ्ट कहाँ है। फिर मैंने कहा के दे तो दिया तुम्हें। फिर वो बोली के मुझे इसके अलावा और भी गिफ्ट चाहिए। फिर मैं बोल के क्या। फिर उसने तकिये के नीचे से एक कान्डम निकालकर अपनी हथेली पर रखकर मुस्कुराने लगी। फिर मैंने उससे पूछा के तुम ये कहाँ से लाई तो वो बोली के पापा की अलमारी मे काफी पड़े है। फिर मैंने उससे पूछा के तुम सच मे सेक्स करना चाहती हो। फिर वो बोली के मैं तो तैयार हूँ।
 
अब आपकी मर्जी है आप करो या नहीं। ये सुनकर मैंने बहन को अपनी बाहों मे भर लिया और फिर से लिप किस करने लगा। फिर मैंने अपना अन्डरवियर निकाल फेंका और फिर मैं बहन के ऊपर आकर उसके बोबो को चूसने लगा। जिससे वो काफी गरम हो गई। फिर मैंने अपने लंड पर थूक लगाया और बहन की चुत मे डालने लगा। बहन की चुत काफी टाइट थी। फिर जब लंड पूरा अंदर चला गया तो मैं धक्के लगाने लगा। फिर कुछ देर की चुदाई के बाद जब मैं झड़ने वाला हुआ तो मैंने लंड बाहर निकाल लिया और फिर मेरे लंड की पिचकारी बहन के मुँह तक जा गिरी। तब हम दोनों ही हाँफ रहे थे। फिर हम दोनों एक दूसरे से चिपके हुए थे तो मैंने बहन से कहा के तुम्हारी चुत से खून तो निकला ही नहीं। फिर बहन ने बताया मैंने पहले चुत में बैगन और खीरा डालकर किया था तब निकला था खून। बहन की बात सुनकर मैं समझ गया की बहन की चुत की झिल्ली पहले ही टूट चुकी थी।
 
फिर उस रात हमने 2-3 बार और चुदाई की और इस तरह हमने रक्षाबंधन मनाया। उस दिन के बाद से तो हम रोज ही चुदाई करने लगे। हम दोनों को चुदाई मे काफी मजा आता था तो ये सिलसिला यहीं थमने वाला नहीं था। मैंने और बहन ने घर पर खूब चुदाई की और इसके अलावा मैं बहन को बाहर ले जाकर भी खूब चोदता। बहन की भी अब सब शर्म जा चुकी थी। रात को जब चुदाई करते करते हमे प्यास लग जाती तो मैं और बहन नंगे ही पानी पीने चले जाते। तब कई बार पापा मम्मी भी चुदाई कर रहे होते तो उनके कमरे के बाहर खड़े होकर हम उनकी चुदाई देखते और फिर हम भी वहीं चुदाई करने लग जाते।
 
इस तरह हम दोनों ने चुदाई करके काफी मजे किए और अब भी कर रहे है।
 

संबधित कहानियां
भाई के साथ चुदाई की पढ़ाई करती हुई एक बहन
भाई के साथ चुदाई की पढ़ाई करती...
मौसी की लड़की की ताबड़तोड़ चुदाई
मौसी की लड़की की ताबड़तोड़ चुदाई
मॉडर्न जमाने की बहन
मॉडर्न जमाने की बहन

कमेंट्स


कमेन्ट करने के लिए लॉगइन करें या जॉइन करें

लॉगइन करें  या   जॉइन करें
  • @Sahil

    2 महीने पहले

    My whataap no (9717226102) jo housewife aunty bhabhi mom girl divorced lady widhwa akeli tanha hai ya kisi ke pati bahar rehete hai wo sex or piyar ki payasi haior wo secret phon sex yareal sex ya masti karna chahti hai .sex time 35min se 40 min hai.whataap no (9717226102)


    0    0

    अभी तक कोई रिप्लाइ नहीं किया गया है!
  • @Aman1234

    6 महीने पहले

    Bhabi anti or gay boy kise ko bhi sex krna hai to whatsapp number 9756775048 par message kar mara sex time 40 sa 50 mint hai


    0    0

    अभी तक कोई रिप्लाइ नहीं किया गया है!
  • @Rk32kr

    6 महीने पहले

    Gajab hai 


    1    0

    अभी तक कोई रिप्लाइ नहीं किया गया है!
  • @Sahil0088

    6 महीने पहले

    My whataap no (7266864843) jo housewife aunty bhabhi mom girl divorced lady widhwa akeli tanha hai ya kisi ke pati bahar rehete hai wo sex or piyar ki payasi haior wo secret phon sex yareal sex ya masti karna chahti hai .sex time 35min se 40 min hai.whataap no (7266864843)


    1    0

    अभी तक कोई रिप्लाइ नहीं किया गया है!
  • @nigodididi

    10 महीने पहले

    👄😘😘😘😘😘😘


    1    0

    अभी तक कोई रिप्लाइ नहीं किया गया है!