कामवासना डॉट नेट

-Advertisement-

एग्जाम देने जाने से पहले मैं बहन का माइन्ड ऐसे फ्रेश करता हूँ 
@Kamvasna 05 मई, 2023 3577

लंबी कहानी को बिना स्क्रॉल किए पढ़ने के लिए प्ले स्टोर से Easy Scroll एप डाउनलोड करें।

मेरी बहन मुझसे छोटी है और दिखने में  काफी सेक्सी लगती है। हम दोनों भाई बहन शहर मे एक रूम लेकर पढ़ते थे। हम साथ में ही पढ़ते थे और कॉमपीटिशन एग्जाम की तैयारी करते थे। फिर मेरी जॉब लग गई तो मैं दूसरे शहर मे रहने लगा। फिर मेरी बहन भी तैयारी करने के लिए मेरे साथ ही आकर रहने लगी। उसका कोई एग्जाम जहां कहीं भी होता तो मैं ही दिलवाकर लाता था। साथ में रहने के कारण हम दोनों की आपस में बनने लग गई थी। मेरी बहन इतनी ज्यादा पढ़ाकू भी नहीं थी। हम आपस मे खूब मस्ती मजाक करते थे। हम दोनों ही जवान थे और बस एक ही कमरा था तो हम एक दूसरे से कुछ नहीं छिपा सकते थे। मुझे पॉर्न विडिओ देखने की लत गई थी तो बहन के सामने बैठकर ही पॉर्न विडिओ देखता रहता और जब रात को सोते तो मैं कंबल ओढ़कर सो जाता और फिर मूठ मारता। फिर एक बार पॉर्न विडिओ देखते टाइम फोन की आवाज तेज हो गई तो वो आवाजें सुनकर बहन को समझते देर नहीं लगी। उस दिन मैं काफी शर्मिंदा हुआ पर बहन ने कुछ नहीं बोला। 

फिर कुछ दिनों तक मैं बहन से आँखें नहीं मिला पाया। फिर एक दिन मैं दोपहर को कमरे पर आया और जब कमरे में गया तो देखता ही रह गया। बहन की सलवार घुटनों तक थी और उसने अपनी चुत में बैंगन लगा रखा था। फिर मुझे देखकर वो घबरा गई और फिर अपनी सलवार ऊंची करने लगी। फिर मैं कमरे से बाहर आ गया और खड़े होकर सोचने लगा। फिर थोड़ी देर बाद बहन ने कमरा खोलक मुझे अंदर बुलाया। फिर मैं अंदर चला गया और खाना खाकर लेट गया। हम एक दूसरे से कुछ नहीं बोले। फिर कुछ दिनों तक हमने एक दूसरे से बहुत कम बात की। फिर मैं अब रोज रात को मूठ मारकर सोने लगा। फिर एक रात को मूठ मारकर सोया तो मैं पैंट पहनना भूल गया। मूठ मारते टाइम मैं पैंट पूरी उतार देता था। फिर सुबह सुबह मेरा लंड पूरा खड़ा था और ऊपर एक कंबल ही ले रखा था तो खड़े लंड के कारण तंबू बना हुआ था। बहन समझदार थी तो वो सब कुछ समझ गई थी। फिर उसने मुझे उठाया और फिर मैं उठा तो मैंने कंबल पूरा साइड में कर दिया और फिर मैंने देखा के मैंने पैंट नहीं पहनी है तो फिर मैंने कंबल वापिस अपने ऊपर लिया। पर इतने मैं बहन सब कुछ देख चुकी थी। 

फिर मैं नहाकर ऑफिस चला गया। फिर मुझे लगा के इसके बारे में बहन से खुलकर बात करनी चाहिए। तब मैं 25 साल का था और बहन 23 साल की थी। फिर मैं शाम को जब कमरे पर आया तो मैंने बहन से कहा के मुझे कुछ बात करनी है। फिर वो बोली के क्या बात है। फिर मैं बोल के इन दिनों में जो हमारे साथ हो रहा है उसके लिए मैं माफी चाहता हूँ। फिर बहन बोली के माफी की कोई जरूरत नहीं है। शादी नहीं होगी तब तक ऐसा ही होता रहेगा। आप अब नौकरी लग गए हो तो कुछ ही समय में आपकी शादी हो जाएगी। फिर मैं बोला के तो शादी तक हम ऐसे ही करते है। तुम्हें जो करना है तुम कर सकती हो मैं तुम्हें कुछ नहीं कहूँगा। फिर बहन बोली के हम दोनों अब जवान है समझदार है। अगर आप बुरा ना मानो तो एक बात कहूँ। फिर मैं बोला के बोलो। फिर वो कहने लगी के आप मुझसे कर लो। शादी तक मुझसे करते रहो फिर आपकी बीवी आ जाएगी तो फिर उससे तो करोगे ही। हम इसके बारे में किसी को कुछ नहीं बताएंगे। फिर मैं बोला के हम भाई बहन है हम ऐसे नहीं कर सकते। फिर बहन बोली के हम अपनी मर्जी से कर रहे। तब तक करेंगे नहीं तब तक इसमें ही ध्यान भटका रहेगा। मैं पढ़ भी नहीं पाती हूँ अच्छे से। 

अब मैं जवान हो गई हूँ तो मुझे अब इसकी जरुरत है। फिर मैं बोला के ठीक है पर हम इसके बारे में किसी को कुछ नहीं बताएंगे। फिर बहन बोली के ठीक है। फिर हम दोनों एक साथ बैठ गए और फिर मैंने अपने कपड़े खोल दिए और फिर बहन ने अपने कपड़े खोल दिए। फिर हम एक दूसरे की बॉडी को देखने लगे। वो मेरे खड़े लंड को देखने लगी और मैं उसके बूब और चुत को देखने लगा। फिर वो लेट गई तो मैं उसके ऊपर आकर उसके बूब को चूसने लगा। हम दोनों का ये पहला सेक्स था तो हमें कोई अनुभव नहीं था। फिर मैंने जैसे विडिओ में देखा था वैसे ही करने लगा। पहले उसके बूब चूसे और फिर उसकी चुत चाटने लगा तो वो फूल गरम हो गई। फिर मैंने अपना लंड उसकी चुत पर लगाया और फिर एक धक्का मारा तो थोड़ा सा लंड उसकी चुत में चला गया। जिस कारण उसे काफी दर्द हुआ और वो चिल्लाने लगी। फिर मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए और उसका मुँह बंद कर दिया और फिर मैंने एक धक्का और मारा पूरा लंड अंडर डाल दिया। फिर वो और चिल्लाई पर उसकी आवाज मैंने मुँह से बाहर नहीं निकलने दी। 

फिर मैं कुछ देर ऐसे ही रहा और फिर धीरे धीरे धक्के लगाने लगा तो उसे भी मजा आने लगा और फिर मैंने जोर जोर से धक्के लगाने लगा और वो भी कहने लगी के और अंडर तक डालो। हम कुछ देर तक करते रहे और फिर मैं झड़ने वाला हुआ तो मैंने लंड बाहर निकाल लिया। क्योंकि हमारे पास कोंडोम नहीं था तब। फिर मैंने अपना सारा पानी उसकी चुत पर डाल दिया। मेरा लंड और उसकी चुत पर खून लगा हुआ था। लेकिन हम दोनों  का पता था के पहली बार चुदाई करने पर ऐसा होता है। फिर हम अपनी चुत और लंड धोकर आकर लेट गए। फिर मैं बहन की चुत सहलाने लगा और फिर बहन भी मेरा लंड सहलाने लगी। उसे अब मजा आने लगा। फिर मैं उसे पॉर्न विडिओ दीखाने लगा ताकि हम अच्छे से सेक्स इन्जॉय कर पाए। फिर विडिओ देखकर बहन जल्दी ही सब कुछ सीख गई। फिर वो मेरा लंड चूसने लगी। फिर मेरा लंड खड़ा हो गया तो फिर हम करने लगे। इस बार हम काफी देर तक करते रहे। इसी तरह शाम तक हमने कई बार किया। 

फिर बहन बोली के भाई अब मुझे आराम करने दो साथ में मैं कुछ पढ़ लेती हूँ। हम रात को और करेंगे। फिर मैंने बहन से कहा के तुम्हारा मन होगा तब करेंगे हम। मैं तुमसे जबरदस्ती नहीं करूंगा। फिर हम एक दूसरे से गले लगे और फिर वो नंगी लेटकर पढ़ने लगी और मुझे नींद आ गई तो मैं सो गया। फिर रात हो गई तो मुझे जाग आई तो देखा के बहन मेरे साथ ही चिपक कर सो रही थी। फिर मैं उसे देखने लगा। वो तब बहुत ही प्यारी लग रही थी। फिर मैं कपड़े पहनकर कमरे से बाहर आया तो देखा के अंधेरा हो चुका था। फिर मैंने वापिस अंडर गया तो बहन भी जाग चुकी थी। फिर मैंने बहन से खाना बनाने का कहकर मैं मार्केट चला गया। फिर मैं मार्केट से कोंडोम का एक पैकेट लेकर आया। 

फिर आते ही हमने खाना खाया और फिर हम बिस्तर पर आ गए। फिर मैं बहन की चुत चाटने लगा तो बहन गरम होने लगी। फिर मैंने बहन के बदन के हर अंग को चूमा और चाटा। यहाँ तक बहन के गाँड के छेद को भी चाटा। फिर वो गरम हो गई तो फिर मैंने कोंडोम लगाया और फिर सेक्स करने लगा। फिर मैं झड़ने वाला हुआ तो इस बार कोंडोम पहना हुआ था तो मैं उसकी चुत मे ही झड़ गया और सारा पानी कोंडोम में इकट्ठा हो गया। फिर मैंने कोंडोम निकालकर साइड में रख दिया और फिर बहन के ऊपर लेट गया। फिर मैंने उससे पूछा के उसे कैसा लगा तो वो बोली के बहुत मजा आया। फिर उस सारी रात हम करते रहे और सारा कोंडोम का पैकेट खाली कर दिया। फिर हम अगले दिन दोपहर को उठे। अगले दिन संडे था। फिर हमने कमरा साफ किया। बहन ने सब यूज किए हुए कोंडोम लेकर बाहर डस्ट्बिन में डाल आई। फिर हम नहाए और फिर खाना बनाकर खाया। फिर इसके बाद हम सुबह शाम और वीकेंड पर सारी सारी रात करते। 

फिर एक दिन मैंने बहन की गाँड में भी कर लिया। जिस कारण वो कुछ दिन तक चल नहीं पाई। लेकिन फिर सब ठीक हो गया। फिर मैं उसे घोड़ी बनाकर घंटों तक उससे करता रहता। पहले बहन सिम्पल ही कपड़े पहनते थी लेकिन फिर मैंने उसे मॉडर्न कपड़े लाकर दिए तो बहन वो कपड़े पहनने लगी और उन कपड़ों में वो और भी सेक्सी लगती। फिर मैं बहन के लिए डिजाइनर ब्रा पैंटी और सेक्सी नाइटी लाकर दी। जिनमे तो वो बहुत ज्यादा सेक्सी लगती और फिर मैं उसकी कसकर चुदाई करता। फिर मैं उसे गोवा घुमाने ले गया। जहां वो सिर्फ बिकीनी में रही और मैंने वहाँ उसकी खूब चुदाई की। अब बहन काफी खुल चुकी थी। फिर जब मैं उसे एग्जाम दिलवाने ले जाता तो एग्जाम से ठीक पहले मैं उसे घोड़ी बनाकर चुदाई करता। जिससे उसका बदन और माइन्ड फ्रेश हो जाता। 

वो हर एग्जाम में कुछ नंबरों से रह जाती। लेकिन वो तैयारी करती रही। फिर हम घर जाते तो घर में हम मौका पाकर कर लेते। बहन को अब खुलकर रहना काफी अच्छा लगता था। फिर वो हर रात शॉर्ट ड्रेस पहनकर मेरे साथ बाहर जाने लगी और पब वगेरह मैं खूब खुलकर डांस करती। वो कहती के शादी के बाद शायद इन्जॉय कर पाऊँगी या नहीं तो अभी इन्जॉय कर लेती हूँ। इस प्रकार शादी होने तक मैंने और बहन ने बहुत मजे किए। फिर मेरी शादी हो गई तो मैं बीवी से करने लगा। लेकिन जब बहन को जरूरत होती तो मैं उससे भी कर लेता था। फिर वो भी जॉब लग गई तो फिर उसकी भी शादी कर दी। फिर शादी के बाद हम दोनों आराम से जिंदगी जीने लगे। किसी को कुछ पता नहीं चला। आजतक ये राज सिर्फ मेरे और मेरी बहन के बीच में ही है। शादी के बाद बहन और भी ज्यादा सेक्सी हो गई थी। फिर मेरा उससे करने का मन हुआ तो मैंने उससे कहा तो उसने मना कर दिया और बोली के किसी को पता चला गया तो हम दोनों की जिंदगी खराब हो सकती है। फिर मैंने ज्यादा जिद नहीं की। लेकिन फिर एक दिन हमें मौका मिल गया तो उस रात हमने खूब चुदाई की और अब भी मौका मिलने पर करते है पर ध्यान भी पूरा रखते है। 

 

 

 

संबधित कहानियां
भाई के साथ चुदाई की पढ़ाई करती हुई एक बहन
भाई के साथ चुदाई की पढ़ाई करती...
मौसी की लड़की की ताबड़तोड़ चुदाई
मौसी की लड़की की ताबड़तोड़ चुदाई
मॉडर्न जमाने की बहन
मॉडर्न जमाने की बहन

कमेंट्स


कमेन्ट करने के लिए लॉगइन करें या जॉइन करें

लॉगइन करें  या   जॉइन करें
  • अभी कोई कमेन्ट नहीं किया गया है!