कामवासना डॉट नेट

-Advertisement-

दीदी की शादी में मिली मौसी की लड़की की चूत 
@8445rohit 31 मई, 2023 1969

लंबी कहानी को बिना स्क्रॉल किए पढ़ने के लिए प्ले स्टोर से Easy Scroll एप डाउनलोड करें।

इसी तरह की बातचीत से हम दोनों एक दूसरे से काफी फ्रेंक हो गए थे.

 

अब रात गहरा गई थी तो सभी सोने की तैयारी करने लगे.

हम सभी ने नीचे ही बिस्तर लगा लिए और सभी नीचे ही सोने लगे.

 

मैं जिद करने लगा कि मुझे कूलर के आगे सोना है तो मैं और साक्षी दोनों पास पास में ही सो गए.

रात के करीब 12.30 बजे के आस पास मुझे लगा कि वो सो गई है, तो मैं उसके साथ सेक्स वाली हरकतें करने लगा.

 

मैं उसके कुर्ते के ऊपर से ही उसके बूब्स को दबाने लगा.

मुझे डर थोड़ा कम लग रहा था क्योंकि मेरे और साक्षी के बीच काफी खुली खुली बातें हो चुकी थीं तो ये तो तय था कि साक्षी शोर नहीं मचाएगी.

 

मैं उसके बूब्स को मसलता रहा.

मैंने दो तीन बार उसको आवाज दी, पर जब वह कुछ नहीं बोली तो मैं आराम से उसके मम्मों को मसलता रहा.

 

थोड़ी देर उसके बूब्स मसलने के बाद उसने मुझसे धीमी आवाज में कहा- क्यों बे नींद नहीं आ रही है क्या?

मैंने कहा- नींद ही आती तो तुझसे क्यों पंगे लेता.

 

यह कहने के बाद मैंने उसका कुर्ता ऊपर उठाया और उसके रसभरे मम्मों को जोर जोर से मसलने लगा.

इस कारण उसकी सांसें तेज हो गईं.

 

थोड़ी देर बूब्स मसलने के बाद में उसके ऊपर चढ़ गया और एक दूध को पीने लगा.

वो भी मस्ती से मुझे दूध पीने दे रही थी.

 

थोड़ी देर बाद मैं साक्षी की सलवार के ऊपर से ही उसकी चूत को सहलाने लगा जिसका उसने कोई विरोध नहीं किया.

मैं खुश हो गया कि आज काम बन जाएगा.

 

फिर मैं उसकी सलवार का नाड़ा खोलने लगा तो उसने रोक दिया.

 

वो बोली- ये किसी और की अमानत है.

मैं भी रुक गया.

मुझे लगा ही नहीं था कि ये साली अभी कुंवारी सी चूत लेकर ही घूम रही होगी.

 

उसकी बात का मतलब मैंने यही लगाया था कि ये अभी चुदी नहीं है.

यही सोच कर मैंने उसकी सलवार नहीं उतारी और मैं मुठ मारने लगा.

 

मुठ मार कर मैंने अपना माल साक्षी के पेट पर ही गिरा दिया और मैं उसको किस करने लगा.

मैंने उसके गालों पर खूब चुम्बन किए.

 

करीब 5 मिनट उसके गालों पर किस करने के बाद मैं उसके गले को किस करने लगा, फिर माथे पर और धीरे धीरे मैं उसके मम्मों पर वापिस आ गया.

 

अब मैं उसके मम्मों किसी भूखे बच्चे की तरह पीने लगा.

दूध चूसने के साथ ही में मैंने उसके निप्पल को एक दो बार काट भी लिया जिस पर उसकी धीमी आवाज में चीख निकल गई.

 

मैंने कहा- साली मरवाएगी क्या … आवाज न कर … कोई जाग जाएगा.

वो चुप हो गई.

 

अपनी बहन के मम्मों को पीने के बाद में उसके ऊपर ही लेट गया और सोने लगा.

 

संबधित कहानियां
भाई के साथ चुदाई की पढ़ाई करती हुई एक बहन
भाई के साथ चुदाई की पढ़ाई करती...
मौसी की लड़की की ताबड़तोड़ चुदाई
मौसी की लड़की की ताबड़तोड़ चुदाई
मॉडर्न जमाने की बहन
मॉडर्न जमाने की बहन

कमेंट्स


कमेन्ट करने के लिए लॉगइन करें या जॉइन करें

लॉगइन करें  या   जॉइन करें
  • अभी कोई कमेन्ट नहीं किया गया है!